google-site-verification=-0-aIR21I3n381PMBCnT4ad3SVFW6ZHshsbEShjca74 भुखमरी : पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल को पीछे छोड़ आगे निकला भारत - Global Hunger Index
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

भुखमरी : पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल को पीछे छोड़ आगे निकला भारत – Global Hunger Index

Published

on

SD24 News Network –

भुखमरी पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल को पीछे छोड़ आगे निकला भारत - Global Hunger Index

भुखमरी : पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल को पीछे छोड़ आगे निकला भारत – Global Hunger Index

इस बार ग्लोबल हंगर इंडेक्स यानी हंगर इंडेक्स में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। भारत में भूख पाकिस्तान, बांग्लादेश और यहां तक ​​कि नेपाल से भी ज्यादा है। आंकड़े इस बात की गवाही देते हैं कि भारत में भूख और तेजी से बढ़ी है और भारत की रैंकिंग और भी खराब हुई है। भूख से जुड़ी इस रैंकिंग में भारत छह पायदान नीचे और नीचे आ गया है।
ग्लोबल हंगर इंडेक्स की रैंकिंग के मुताबिक भारत 121 देशों में से 107वें स्थान पर आ गया है। आपको बता दें कि इससे पहले भारत 116 देशों की रैंकिंग में 101वें स्थान पर था। इसमें सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से भी पीछे है। इस रैंकिंग में अफगानिस्तान के बाद दक्षिण एशिया के देशों में भारत की स्थिति सबसे खराब है।
जीएचआई स्कोर की गणना चार संकेतकों पर की जाती है, जिसमें कुपोषण, कुपोषण, बाल विकास और बाल मृत्यु दर शामिल हैं। भारत से भी बदतर स्थिति वाले देशों में अफगानिस्तान, जाम्बिया और अफ्रीकी देश शामिल हैं। इन देशों में तिमोर-लेस्ते, गिनी-बिसाऊ, सिएरा लियोन, लेसोथो, लाइबेरिया, नाइजर, हैती, चाड, डेम, मेडागास्कर, मध्य अफ्रीकी गणराज्य, यमन आदि शामिल हैं।
आपको बता दें कि इससे पहले साल 2020 में भारत 94वें स्थान पर था और इस बार यह 107वें स्थान पर है। पाकिस्तान 99वें, श्रीलंका 64वें, बांग्लादेश 84वें, नेपाल 81वें और म्यांमार 71वें स्थान पर है। ये सभी देश भारत से ऊपर हैं। यह रैंकिंग GHI स्कोर के आधार पर जारी की जाती है। फिलहाल भारत का स्कोर 29.1 है। साल 2000 में यह 38.8 थी, जो 2012 से 2021 के बीच 28.8 27.5 के बीच रही।
यह वाकई चौंकाने वाली बात है कि भारत में करीब 20 लोग ऐसे हैं जो हर दिन ठीक से खाना नहीं खा पाते हैं और उन्हें हर रात भूखे पेट सोना पड़ता है। वर्ष 2020 में दक्षिण एशिया में 1331.5 मिलियन लोग थे, जैसे कि स्वस्थ आहार नहीं मिला और उनमें से 973.3 मिलियन भारत के लोग थे। भूख से मरने वालों के आंकड़ों पर नजर डालें तो भारत में हर साल 7 हजार से 19 हजार लोग भूख से मर रहे हैं। यानी पांच से 13 मिनट में इंसान बिना खाए ही मर जाता है।
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *